आने वाले दो साल के लिए प्रभावी नीति बनाए सेतु आयोग

देहरादून : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय में नवगठित सेतु आयोग की कार्ययोजना से सम्बन्धित प्रस्तुतीकरण का अवलोकन करते हुए निर्देश दिये कि सेतु आयोग आने वाले 2 साल के लिए प्रभावी नीति बनाए। सेतु द्वारा कौशल विकास और स्वरोजगार की दिशा में विशेष ध्यान दिया जाए। प्रयास किये जाएं कि राज्य के युवाओं को रोजगार के लिए

Web Editor Web Editor

विकसित भारत’ की संकल्पना के मुताबिक सधा हुआ बजट : डॉ.विजय धस्माना

डोईवाला (देहरादून) : स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय (एसआरएचयू) जौलीग्रांट के अध्यक्ष व भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) उत्तराखंड के पूर्व अध्यक्ष डॉ.विजय धस्माना ने मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल के पहले आम बजट -2024 को ‘विकसित भारत’ की संकल्पना के मुताबिक सधा हुआ बजट बताया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की उपलब्धि ‘नारी शक्ति’ का प्रतीक डॉ.विजय धस्माना ने कहा कि सर्वप्रथम

Web Editor Web Editor

हिमालयन अस्पताल के स्वास्थ्य जांच शिविर में करीब 200 रोगियों ने उठाया लाभ

डोईवाला (देहरादून) :  हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट की ओर से ग्रामीण स्वास्थ्य प्रशिक्षण केंद्र गौहरीमाफी रायवाला में निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजित किया गया। इसमें करीब 200 रोगियों ने स्वास्थ्य जांच शिविर में परामर्श प्राप्त किया। स्वामी राम हिमालयन विश्ववविद्यालय (एसआरएचयू) में संस्थापित हिमालयन इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एचआईएमएस) के सामुदायिक चिकित्सा विभाग की ओर से गौहरीमाफी रायवाला में स्वास्थ्य जांच

Web Editor Web Editor
Weather
24 °C
Dehradun
scattered clouds
24° _ 24°
90%
1 km/h
Wed
30 °C
Thu
30 °C
Fri
30 °C
Sat
29 °C
Sun
31 °C

Follow US

Discover Categories

Sponsored Content

दाउद इब्राहीम की मौत को लेकर चर्चाओं का बाजार गरम

नई दिल्ली : दाउद इब्राहीम को लेकर चर्चाओं का बाजार गरम है। भारत के सबसे बड़े दुश्मन अंडरवर्ल्ड डॉन को जहर देने की खबर के बाद से सोशल मीडिया पर

Web Editor Web Editor

इस वर्ष 51 हजार से अधिक वीआइपी कर चुके हैं बदरी केदार के दर्शन

रुद्रप्रयाग: इस वर्ष बदरीनाथ व केदारनाथ धाम में अब तक 51,696 वीआइपी दर्शन कर चुके हैं। इससे श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) को रुपये 1,55,08,800 की आय प्राप्त हुई है। बीकेटीसी अध्यक्ष अजेंद्र अजय के अनुसार इस वर्ष 25 अप्रैल को केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के पश्चात अब तक 15,612 विशिष्ट व अतिविशिष्ट और उनके संदर्भों से आए महानुभावों ने दर्शनों का लाभ उठाया है। इससे बीकेटीसी को रूपये 46,83,600 का लाभ हुआ। इसी प्रकार 27 अप्रैल को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के पश्चात वहां अभी तक 36,084 हजार विशिष्ट व अतिविशिष्ट महानुभाव दर्शनों के लिए पहुंचे। इनसे बीकेटीसी को रूपये 1,08,25,200 प्राप्त हुए। उल्लेखनीय है कि यात्राकाल में दोनों धामों में प्रोटोकॉल के तहत वीआईपी व वीवीआईपी श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है। बीकेटीसी वीआईपी श्रद्धालुओं को प्राथमिकता के आधार पर दर्शन कराती थी और प्रसाद भी देती थी। इन श्रद्धालुओं से किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाता था। वीआईपी व वीवीआईपी श्रद्धालुओं के नाम पर अनेक अव्यवस्थाएं भी पैदा होती थीं। इस वर्ष यात्राकाल से पूर्व बीकेटीसी अध्यक्ष अजेंद्र ने देश के चार बड़े मंदिरों श्री वैष्णोदेवी, श्री तिरूपति बाला जी, श्री सोमनाथ व श्री महाकाल मंदिर में विभिन्न व्यवस्थाओं के अध्ययन के लिए अलग-अलग दल भेजे थे। इन दलों ने वहां की व्यवस्थाओं का अध्ययन कर मंदिरों में आने वाले विशिष्ट व अति विशिष्ट महानुभावों से दर्शनों के लिए शुल्क निर्धारित करने का प्रस्ताव रखा था। बीकेटीसी ने अध्ययन दलों के सुझाव पर प्रति व्यक्ति 300 रुपये निर्धारित किया था। बीकेटीसी द्वारा नयी व्यवस्था कायम किए जाने के बाद वीआईपी व वीवीआईपी के नाम पर अनावश्यक रूप से दर्शनों के लिए घुसने वालों पर भी रोक लगी है। बीकेटीसी ने इस नई व्यवस्था की शुरुआत इस वर्ष केदारनाथ धाम से शुरू की थी। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने पर बीकेटीसी ने पहली पर्ची मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की काटी थी। मुख्यमंत्री ने 300 रूपये का शुल्क चुका कर दर्शन किये थे।

Web Editor Web Editor