नहाते वक्‍त गंंगा में डूबे दो युवक लापता, एसडीआरएफ कर रही सर्च

टिहरी : अलग अलग घटनाओं में कौड़ियाला व निम बीच पर नहाते हुए गंगा में डूबकर दो युवक लापता हो गए हैं। SDRF की टीम लापता युवकों की तलाश कर रही है। इनमें से एक युवक दिल्‍ली और एक बिहार के रहने वाले हैं। शुकवार को पुलिस चौकी कौड़ियाला द्वारा SDRF को सूचित किया गया कि कौड़ियाला के पास नदी

Web Editor Web Editor

मतदान करनें वाली महिलाओं को निशुल्क परामर्श: डा0 सुजाता संजय

देहरादून : संजय मैटरनिटी सेन्टर द्वारा गत वर्षो की ही भाँति इस लोकसभा चुनावी पर्व पर उन महिलाओं को जिन्होनें चुनाव में अपना बहुमूल्य मतदान दिया हैं। उनके लिऐ तीन दिवसीय 19-21, अप्रैल 2024 तक निःशुल्क स्वास्थ्य परामर्श दिया जायेगा। यह कार्यक्रम डाॅ. सुजाता संजय द्वारा पिछले तीन वर्षों से 2017, 2019 एवं 2022 से चलाया जा रहा है। इसके

Web Editor Web Editor

पूर्व मिस इंडिया अनुकृति गुसाईं ने माता- पिता के साथ लैंसडौन में किया मतदान

लैंसडौन: पूर्व मिस इंडिया अनुकृति गुसाईं ने अपने माता- पिता के साथ लैंसडौन में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। अनुकृति ने ज्यादा से ज्यादा लोगों से वोट करने की अपील की। अनुकृति मतदान करने के लिए गुरुवार को ही लैंसडौन पहुंच गई थी। आज सुबह उन्होंने मतदान किया। अनुकृति ने कहा कि अपने क्षेत्र और देश के विकाश के लिए

Web Editor Web Editor
Weather
18 °C
Dehradun
clear sky
18° _ 18°
65%
4 km/h
Sat
33 °C
Sun
34 °C
Mon
34 °C
Tue
35 °C
Wed
29 °C

Follow US

Discover Categories

Sponsored Content

आन लाइन ठगी कर 13 लाख से ज्‍यादा का चूना लगाया

देहरादून : क्रिप्टो करैन्सी में ऑनलाईन ट्रेडिंग कर लाभ कमाने व फ्लिपकार्ट का गिफ्ट गिविंग मैनेजर बताकर यू ट्यूब चैनल्स को लाईक व सब्स्क्राईब करने के टास्क से लाभ कमाने

Web Editor Web Editor

इस वर्ष 51 हजार से अधिक वीआइपी कर चुके हैं बदरी केदार के दर्शन

रुद्रप्रयाग: इस वर्ष बदरीनाथ व केदारनाथ धाम में अब तक 51,696 वीआइपी दर्शन कर चुके हैं। इससे श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) को रुपये 1,55,08,800 की आय प्राप्त हुई है। बीकेटीसी अध्यक्ष अजेंद्र अजय के अनुसार इस वर्ष 25 अप्रैल को केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के पश्चात अब तक 15,612 विशिष्ट व अतिविशिष्ट और उनके संदर्भों से आए महानुभावों ने दर्शनों का लाभ उठाया है। इससे बीकेटीसी को रूपये 46,83,600 का लाभ हुआ। इसी प्रकार 27 अप्रैल को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के पश्चात वहां अभी तक 36,084 हजार विशिष्ट व अतिविशिष्ट महानुभाव दर्शनों के लिए पहुंचे। इनसे बीकेटीसी को रूपये 1,08,25,200 प्राप्त हुए। उल्लेखनीय है कि यात्राकाल में दोनों धामों में प्रोटोकॉल के तहत वीआईपी व वीवीआईपी श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है। बीकेटीसी वीआईपी श्रद्धालुओं को प्राथमिकता के आधार पर दर्शन कराती थी और प्रसाद भी देती थी। इन श्रद्धालुओं से किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाता था। वीआईपी व वीवीआईपी श्रद्धालुओं के नाम पर अनेक अव्यवस्थाएं भी पैदा होती थीं। इस वर्ष यात्राकाल से पूर्व बीकेटीसी अध्यक्ष अजेंद्र ने देश के चार बड़े मंदिरों श्री वैष्णोदेवी, श्री तिरूपति बाला जी, श्री सोमनाथ व श्री महाकाल मंदिर में विभिन्न व्यवस्थाओं के अध्ययन के लिए अलग-अलग दल भेजे थे। इन दलों ने वहां की व्यवस्थाओं का अध्ययन कर मंदिरों में आने वाले विशिष्ट व अति विशिष्ट महानुभावों से दर्शनों के लिए शुल्क निर्धारित करने का प्रस्ताव रखा था। बीकेटीसी ने अध्ययन दलों के सुझाव पर प्रति व्यक्ति 300 रुपये निर्धारित किया था। बीकेटीसी द्वारा नयी व्यवस्था कायम किए जाने के बाद वीआईपी व वीवीआईपी के नाम पर अनावश्यक रूप से दर्शनों के लिए घुसने वालों पर भी रोक लगी है। बीकेटीसी ने इस नई व्यवस्था की शुरुआत इस वर्ष केदारनाथ धाम से शुरू की थी। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने पर बीकेटीसी ने पहली पर्ची मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की काटी थी। मुख्यमंत्री ने 300 रूपये का शुल्क चुका कर दर्शन किये थे।

Web Editor Web Editor